लाल टमाटर जैसी गांड और चुत चोदी

हेलो फ्रेंड आज में आप को मेरे बॉस की बेटी के साथ बिताये कुछ सेक्स के पल को बया करना चाहता हु। दोस्तों उसका नाम पुजा था दोस्तों में अपने बॉस के घर पे काम करता हु और वही पे रहता हु इस लिए पुजा और में अच्छे दोस्त की तरह रहते है इस लिए मेरे साथ गुल मिल गई थी क्यूंकि मैं करीब 5 साल से अपने बॉस के मकान में नौकर का काम कर रहा था | मेरा बॉस और  बॉस की बीवी ज्यादातर  घर से बहार ही रहा करते थे जिससे बस मकान मैं और बॉस की बेटी

पुजा रह जाया करते थे | उन दिनों मुझे ज्यादा चुत चुदाई के बारे में नहीं पता था जब तक मैंने एक सेक्सी फिल्म टीवी पर नहीं देखि थी | उस दिन के बाद से मुझे भी किसी लड़की के साथ वैसे रोमांटिक पल बिताने का खूब मन होने लगा और बस अपने मन पर काबू पाना भी मुश्किल होता जा रहा था |तो दोस्तों अब मुझे अपने बॉस की बेटी पुजा के साथ अपनी वासना को पूरा करने का मन कर रहा था। लेकिन मुझे दर था की कही मुझे नौकरी से हाथ न धोना पड़े तो भी मेने हिम्मत कर दी। आज रात बॉस और उनकी वाइफ बहार जाने वाले थे तो मेने सोचा की ये मौका आज ही है।

जब वो दोनों चले गए फिर में और पूजा सोफे पे बेटे हुए थे तो पूजा ने मुझे कहा की उसके परे बहुत दर्द कर रहे है तो में उसके पैर दबा दू तो मेने कहा ओके बॉस और फिर मेने पूजा को कहा की चलो फिर बैडरूम में और फिर हम दोनों उठ कर बैडरूम में चले गए। में पूजा के पैर दबा ने लगा धीरे धीरे मेरे हाथ उसके जांग के पास जाने लगे तो उसने अपने पैर को कड़क कर दिया सायद उसे गुदगुदी होने लगी थी इस लिए मेने वापिस अपने हाथ निचे ला दिए तो उसने तुरंत अपने दोनों पैर पहले से ज्यादा फैला दिए तो मुझे थोड़ा शक हुआ और मेने वापिस अपने हाथ उसकी जांग पर जाने दिए और अब उसने कोई रिएक्शन नहीं दया इस वजह से में अब उसके सलवार के उपहार से उसके चुत को सहलाने लगा।

तो उसने अब मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे ऊपर की तरफ खींच लिया अब मेरा मुँह उसकी चुत के एकदम बराबर था और फिर उसने अपना पायजामा और अंडरवियर दोनों एक साथ निचे उतर दिए और मेरा सर पकड़ के अपने चुत पे रगड़ ने लगी में भी अब उसकी चुत  को चाटने लगा। लेकिन अभी भी वो सील पैक थी अब मेने उसको अपने बहो में भर लिया और वो भी अपने पुरे बदन को मेरी बाहों में निढाल होती जा रही थी तभी मैंने पूजा के होठो चूम लिया। मैं उसे चूमता हुआ पूजा के होठों को चूसना शुरू कर दिया | मेरे अंदर चुदेली गर्मी बढती गयी तो मैंने पूजा की कुर्ती को भी उतार फेंका और पूजा के मोटे – मोटे चुचों को अपने हाथों में भर लिया | मैं उसके चुचों की मालिश करता हुआ पुजा के होठों को चूसते हुए उसकी सलवार को भी उतार दिया |

अब मेरा सामने पूजा बिलकुल नंगी हो गयी मैं अब पूजाके चुचों को पी रहा था जिसके सतह ही मैंने पैंटी को भी नीचे पूजा की पिलपिली चुत में ऊँगली अंदर – बाहर करना चालू कर दिया पूजा किसी मछली की तरह बस रहम की भीक मांग रही थी और पूजा का चेहरा पूरा लाल पड चूका था। बस पूजा की तडपती हुई हालत मेरे लंड को बढ़ावा देने लगी और मैंने समय बर्बाद ना करते हुए अपने लंड को उसकी चुत पर टिकाया और पूजा के उप्पर लेटे हुए धक्का मारने शुरू कर दिया।  वो दर्द से जूझ रही थी क्यूंकि उसकी चुत का हेमं फट चूका था जबकि मैं उसकी बूब्स की कस के चूस्कियां लेने लगा।

अब बॉस की बेटी पूजा पीड़ा से उसकी चींखें निकल रहीं थी और बढते समय के साथ सारा पीड़ा भी घटती जा रहा थी | मैं अब फिरसे पूजा के साथ रोमांटिक होता हुआ पूजा की चुत में ऊँगली करने लगा और इस बार पूजा को कोई दर्द ना रहा तो और पूजा की चुत भी मेरे लंड को लेने के लिए चौड गयी थी | मैं पूजा की लाल टमाटर जैसी गांड में अपने लंड का बिलकुल किसी सेक्स फिल्म की तरह तीर चलाता चला गया और और हम दोनों मुंह से मुंह मिलाए अपने सेक्सी नाईट को जी रहे थे | दोस्तों मेरी बॉस की बेटी मुझे इतना हवसी की राहत दे सकती मैंने कभी सोचा था और अब इसके बाद कभी उसकी चुत चोदने का मौका भी हाथ से नहीं गंवाया |

Author: Chudaiporn

Leave a Reply