सौम्या आंटी मुझसे चुदने के लिए बेताब

हेलो दोस्तों, मेरा नाम रौनक है मैं गोवा से हु. तक़रीबन आठ महीने पहले की है. मेरा परिवार मिडिल क्लास का है और हम लोग गोवा में रहते है. मेरा कॉलेज का थर्ड ईयर चल रहा है. मेरे पास में एक परिवार रहता है जिसमे एक खूबसूरत आंटी रहती है जिसका नाम सौम्या है. आंटी का परिवार और हमारा परिवार आपस में काफी घुलमिल के रहता है. सौम्या आंटी बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी रांड जैसी लगती है. आप लोग उसे देखेंगे तो आप के मुँह से एक ही वर्ड निकलेगा वाओ सेक्सी बेब्स।. सौम्या आंटी का गिओग्राफी 34-28-36 है और सौम्या आंटी की उम्र 34 के आसपास है. सौम्या आंटी कि परिवार में सौम्या आंटी के पति और दो बेटिया है. सौम्या आंटी के परिवार में उनके पति जिनका नाम सुरेश और उनकी दो बेटिया रहती है सौम्या आंटी का परिवार मेरे परिवार से काफी टच में था

इस लिए एकदिन सौम्या आंटी ने मेरा फ़ोन माँगा की उन्हें कही कॉल करना है क्यों की सौम्या आंटी का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया है तो मेने फ़ोन दे दिया और सौम्या आंटी ने बात कर के वापिस दे दिया। सौम्या आंटी को देख के लगता नहीं की उनकी २-२ बेटिया है एक दिन आंटी का मेरे फ़ोन पे ही का व्हाट्सप्प आया तो मेने रीप्ले में कहा की कौन तो उन्होंने कहा खुद पहचानो तो मेने कॉलर आई डी चेक करने वाली वेबसाइट पे सर्च किया तो सौम्या आंटी का नाम आगया तो मेने आका अच्छा कहिये जी तो बोली की बहुत जल्दी पहचान लिया तुम ने तो तो मेने कहा की ये डिजिटल दुनिया है फिर हम दोनों में बाते होने लगीकुछ दिन तो हमने सिंपल बाते की और धीरे धीरे हमारी बाते सिंपल बाटे वल्गर में बदलने लगी और में आंटी को पटाने लगा। क्यों की आंटी का जो फिगर था उसने मुझे उनका आशिक बना दिया था।

और उन्होंने मुझे कहा की तुम मुझे अकेले में सिर्फ सौम्या की कहा करो मेने कहा ठीक है। एक दिन जब में सौम्या से व्हाट्सएप पर बात कर रहा था तो सौम्या कुछ नाराज़ जैसी लग रही थी तो मेने उनको पूछा की आज सौम्या जी बात करने में कुछ मज़ा नहीं आरहा तो सौम्या ने कहा कुछ नहीं थोड़ी अपसेट हु। में आप को बता दू की सौम्या और में सेक्सी बाते करते करते किसिंग तक तो पहुंच गए थे अब खाली चुदाई बाकि थी। फिर मेने सौम्या को पूछा की मेरी जानू मुझे नहीं बताएगी समस्या क्या है।  तो सौम्या फिर बोली की में अपने पति की वजह से परेशान हु अब वो मुझे खुश नहीं कर पाते है और उनका लंड बहुत छोटा है इस लिए वो तो अपना मज़ा ले लेते है लेकिन मुझे नहीं दे पाते है इस लिए परेशान हु।  तो मेने जल्दी से कह दिया बस इतनी सी बात अरे मेरी जान में किस दिन काम आऊंगा में हु न आप के लिए। और ये बात उनको भी मालूम थी और हम दोनों ही मौका ढूंड रहे थे।

और एक दिन वो मौका हमे मिल गे जिसकी हमे तलाश थी. एकदिन सौम्या के पति बाहर टूर पर गये हुए थे और मैं इस मौके का फायदा उठाते हुए, सौम्या के घर पहुच गया. सौम्या की लडकिया भी स्कूल गयी हुई थी. तब मैंने सौम्या को किस किया और बाजु में दबोच लिया. सौम्या किचन में थी और मैं उन्हें वहीँ खड़े होकर किस कर रहा था. सौम्या आहे भर रही थी और मैं बूब्स को सौम्या के टॉप पर से ही दबा रहा था. फिर सौम्या ने कहा – चलो, कमरे में. तो मैंने सौम्या को झट से अपनी बाहों में उठा लिया और कमरे में ले गया. सौम्या को बेड पर लिटा कर मैं सौम्या को किस करने लगा था. मैं उनको किस करते – करते, सौम्या की टॉप के ऊपर से ही उनके बूब्स दबा रहा था. सौम्या जोर से आहे भर रही थी. तब मैं अपनी जीन्स और शर्ट निकाल दी और सिर्फ अंडरवियर में रह गया.

मैं सौम्या के ऊपर लेट गया और सौम्या मेरे लौड़े को सहला रही थी और दबा रही थी. मेरा लौड़ा एकदम से तन कर खड़ा और कड़क हो चूका था. मैंने सौम्या को इशारे से कहा, इसे निकालो.. और प्यार से सहलाओ. तो सौम्या ने मेरी अंडरवियर नीचे कर दी और सौम्या मेरे लौड़े को देख कर शौक हो गयी. सौम्या बोली, कि कितना लम्बा और मोटा है.. आह मैं तुझे अपनी जान दे दूंगी. सौम्या मेरे लौड़े को हिलाने लगी और मुझ में भर लिया. मेरा 8 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा लौड़ा सौम्या के मुह में भर गया और मैं सौम्या के मुह को चोदने लगा. मैं सौम्या के बालो को सहला रहा था और फिर एकदम से खीच कर सौम्या के मुह को जोर – जोर से चोदने लगा. सौम्या मजे लेकर चूस रही थी और 7-8 मिनट के बाद, मैंने सौम्या को हटाया और सौम्या के टॉप और पजामे को निकाल दिया. सौम्या सिर्फ ब्रा और पेंटी थी.

मैंने सौम्या को पहली बार ऐसे देखा था, तो मैं एकदम पागल हो गया. मैं जोर – जोर से उनके स्तन दबा रहा था और सौम्या की ब्रा को निकाल कर उनके 34 के स्तन को चूस रहा था. सौम्या मेरे सिर पर हाथ फेर रही थी और बालो को नोच रही थी. मैंने अपना दूसरा हाथ सौम्या की पेंटी में डाल दिया और सौम्या की चूत को सहलाने लगा. वो मज़े ले रही थी. सौम्या की चूत पूरी सौम्या के पानी से गीली हो चुकी थी. मैंने अपनी ऊँगली डाल कर उन्हें मज़े दे रहा था. फिर मैं नीचे हुआ और सौम्या की पेंटी भी निकाल दी. सौम्या की शेव की हुई चूत थी और बहुत ही मस्त थी. सौम्या तेज – तेज सांसे ले रही थी और मैं अपना मुह लगा कर सौम्या की पुसी से पुसी मिल्क पिने लगा. सौम्या की चिकनी चूत पर मेरी जीभ बहुत तेज चल रही थी और मैं मस्ती में उनको चाट रहा था.  वो अपने हाथो से मेरे सिर को अपनी चूत में दबा रही थी और जोर – जोर से आहे भर रही थी… फक मी.. फक मी… हहहहः अहहहहः

रौनक मेरी जान … अहहहः ऊऊओह्हह्हह मैं भी एक्साइट होकर सौम्या की चूत में जीभ डालने लगा. वो बहुत प्यासी थी. सौम्या का पानी 3 बार निकल चूका था और फिर मैंने उनकी पैर को अपने कंधो पर रख कर, अपने लंड को सौम्या की चूत पर सहला रहा था.वो अब बहुत जोर से मोअनिंग कर रही थी और पुरे कमरे में सौम्या की आवाज़े गूंज रही थी अहहहा अहहहः आआआआआआआआआअ … मैं अपने गरम लंड को उनके जी-स्पॉट पर मस्ती में रगड़ रहा था और अब जोर से तिलमिला रही थी और वो मुझसे मेरा लंड अब अन्दर डालने कि रिक्वेस्ट करने लगी थी. सौम्या ने अब मेरे लंड से मेरा हाथ हटा दिया और मेरे लंड को खुद अपने हाथ में ले लिया. सौम्या ने अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत पर सेट किया और मैंने फिर एक जोर का धक्का मारा.

मेरा मोटा लंड सौम्या की चूत में पूरा चला गया. सौम्या कहरा उठी और कहने लगी, आह जैसे पहली बार लंड ले रही हु.. बिलकुल वैसा अहसास हो रहा है. सौम्या के पति का काफी पतला था और काफी छोटा भी. सही से खड़ा भी नहीं होता था. मैं एक्साइट हो कर उन्हें चोदने लगा. जोर – जोर से ठुकाई लगाने लगा. करीब 28 मिनट की चुदाई में हम दोनों पसीने से लथपथ हो गये और मैं सौम्या को किस कर रहा था और उनके स्तन को दबाते हुए, सौम्या की चूत में अपने लंड को जोर – जोर से ठोक रहा था. अब मैं क्लाइमेक्स पर आ गया था और मैंने सौम्या की चूत में ही अपना पूरा माल छोड़ दिया. मैं सौम्या के ऊपर लेट गया और स्तन को मज़े से सहलाते हुए, सौम्या को चूस रहा था. मुझे सौम्या के चेहरे पर एक संतुष्टि भरी ख़ुशी नज़र आई.

मैं मन में सोच रहा था. जिस के लिए मैं मरे जा रहा था. वो इतनी बैचेन थी, मुझे नहीं पता था और मैंने आज सौम्या को मस्त सेटइसफाई कर दिया. अभी तो मैंने केवल एक भी बार चुदाई की थी. मेरे लंड कि प्यास तो पूरी तरह से बुझी ही नहीं थी. मैंने अपने लंड को अपने हाथ से थोड़ी देर मसला और वो फिर से खड़ा हो गया. अब मैं बेड पर लेट गया और सौम्या मेरे ऊपर आ गयी और सौम्या ने अपनी चूत को मेरे लंड पर रख दिया और जोर – जोर से उछलने लगी. फिर मैंने सौम्या घोड़ी कि तरह चोदा. हमने करीब 2 घंटे तक जबरदस्त और ताबड़तोड़ चुदाई का मज़ा लिया. अब हम पति – पत्नी की तरह वयव्हार करते और जब भी मौका मिलता, तो हम लोगो कि चुदाई का सिलसिला जारी हो जाता. दोस्तों, आपको मेरी कहानी कैसी लगी.. मुझे जरुर बताना…

Leave a Reply