मेरी दोस्त अदिति के साथ सेक्स वीडियो बनाया

राम राम दोस्तो, मैं शम्भू एक बार फ़िर आप के समक्ष हाज़िर हो गया हूँ अपनी एक और स्टोरी ले कर! दोस्तों यह कहानी 2014 की सर्दियों की है, जब में मुंबई गया था मैं अपनी नौकरी के लिये प्रयास कर रहा था। तब मैं कांदिवली में अदिति के कज़न राकेश के पास रुका हुआ था। एक दिन अदिति मुझसे मिलने आई, उस दिन मेरी किस्मतअच्छी थी की अदिति का कज़न राकेश ड्यूटी पर गया हुआ था। मैं और अदिति बडे दिनों बाद मिल रहे थे तो मैंने अदिति के आते ही अदिति को पकड़ लिया और अदिति को किस्स शुरू कर दिया।मेरे इस वार से अदिति चौक गई पर मिली तो वो भी बड़े दिनों बाद थी तो आग दोनों तरफ़ बराबर लगी थी। फिर अदिति ने भी मुझे चूमना शुरु कर दिया। फिर मैं जमकर अदिति को और अदिति मेरे होंठों को चूसने लगी, फ़िर अदिति बेकाबू हो गई, और अदिति को सेक्स का चस्का चढ़ने लगा। फिर मैंने अदिति को सम्भाला और फिर मेने अदिति अपनी बाहो में उठाया और उसे बिस्तर पर ले गया, और किस्स करते करते मेने अदिति के कपड़े उतारे और उसको नंगी कर दिया।

आज अदिति पहले से ज़्यादा सैक्सी लग रही थी। उसके मोटे मोटे बूब्स वाह… उसके चूतड़ गान्ड जैसे कोई मखमली गद्दे हों… उसकी चूत के तो क्या कहने… जैसे दूर कहीं किसी ने हीरा छुपाया हो वाह… तभी अदिति ने कहा- मुझको सर्दी लग रही है। तो मने उसे कहा डार्लिंग सर्दी लग रही है तो में हु न की सेवा में  अदिति को जब भी सर्दी लगती है तो अदिति मुझसे अपने कपड़े खोल कर उसके ऊपर रज़ाई का काम करने को कहती है। मतलब अदिति मुझे अपने ऊपर लेटने को कहती है। मैं उसके कहे अनुसार अपने कपड़े उतार कर उसके ऊपर आ गया। पर अब मुझे थोड़ी सर्दी लग रही थी। तो मैंने ऊपर से चादर भी ओढ़ ली। अब मैं फ़िर उसे और अदिति मुझे चूमने लगी। फिर मैंने अदिति को समूच करना शुरू कर दिया। एक हाथ से मैं अदिति के बोबे भी दबा रहा था और दूसरे हाथ से मैं उसकी चूत को सहला रहा था।

तभी मुझे एक बात याद आई कि अदिति और मैं अकसर फ़ोन पर सैक्स की बात करते थे तो एक बार ऐसे ही मैंने अदिति से कहा था कि अदिति एक बार हम दोनों अपनी सैक्स करते हुए अपनी हरकते कैमरे में कैद करेंगे। तो उसने ऐसे ही मज़ाक में बात ली और हाँ कह दिया। जैसे ही मुझे ये बात याद आई मैंने अदिति से कहा- अदिति करें शूट अपनी फ़िल्म? अदिति के होश उड़ गये। पर वो मेरे ज़ोर देने पर राज़ी हो गई। फिर मैंने अदिति के पर्स से वीडियो कैमरा निकाला जो अदिति को उसके भाई मनीष ने गिफ़्ट दिया था और अदिति उसको मुझे दिखाने के लिये लाई थी। मैंने उस कैमरे को ऑन किया और उसे शेल्फ़ पर टिका कर कुछ इस तरह रख दिया कि हमारा पूरा बेड और हम दोनों शूट हो सकें। फ़िर मैंने अदिति के बोबे सहलाना शुरु कर दिया और अदिति के कान काटना भी।

इससे अदिति बहुत गर्म हो जाती है। और जैसा कि मैंने कहा कि अदिति एकदम से गर्म हो गई, उसने अपना एक बूब्स यानि कि दूध मेरे मुँह में डाल दिया और मुझसे कहने लगी- चूसो इसे ज़ोर से… मेरा सारा दूध पी लो। मैंने भी उसके बूब्स को ज़ोर से चूसना शुरू कर दिया। थोड़ी ही देर में अदिति सिसकारियाँ भरने लगी। फ़िर मैंने अदिति का दूसरा बूब्स भी चूसा। और अदिति इतनी गर्म हो गई थी कि उसने अपने बूब्स पर मेरा मुँह पकड़ कर दबा दिया। फ़िर कुछ देर ऐसा करने के बाद मैंने उसके पेट और नाभि को चूमना शुरू कर दिया, फ़िर नाभि से होते हुए उसकी चूत पर अपना मुँह लगा दिया। जैसे ही मैंने अपना मुँह अदिति की चुत पर रखा और अपनी ज़ीभ अन्दर बाहर करनी शुरू की तो अदिति तो जैसे स्वर्ग की सैर करने लगी। उसके मुँह से ‘आआह्ह्ह्ह… स्स्स्स्स स्साआ अह्ह्ह्ह… म्म्म म्म्माआआह्ह… ओह येस… ओह येस… ओह येस… ओह येस बेबी सक इट… ओह येस बेबी सक इट’ जैसी आवाज़ें निकलने लगी।

अभी मुझे ऐसा करते कुछ ही समय हुआ था कि तभी अदिति ने मेरा मुँह अपनी चूत पर दबा दिया। मैंने भी ज़ीभ पूरी रफ़्तार क साथ अन्दर बाहर चलानी शुरू कर दी। तभी अदिति के मुँह से वो निकला जो मैं सुनना चहता था। अदिति ने कहा- शम्भू अब और सब्र नहीं होता अपना लन्ड मेरी चूत में डाल दो प्लीज़। बस यह सुनते ही मैंने अपना लन्ड अदिति की चूत पर रखा और ज़ोरदार धक्का देकर अपना लन्ड अदिति की चूत में पेल दिया। अदिति काफ़ी समय से सैक्स ना करने की वजह से ज़ोर से चीख पड़ी। मैंने उसके मुँह पर अपना हाथ रख कर उसकी चीख बन्द कर दी। फ़िर मैंने धीरे धीरे अपना लन्ड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और अदिति ने भी अपने चूतड़ चलाने शुरू कर दिये। अब अदिति के मुख से सिसकारियाँ शुरू हो गई, उसके मुख से आआह्ह्ह… स्स्स स्साआअह्ह… म्म म्म्माआआह्ह्ह्ह… ओह येस शम्भू फ़क मी… ओह येस शम्भू फ़क मी… ओह येस… ओह येस शम्भू फ़क मी हार्ड… ओह…’ जैसी आवाज़ें निकलने लगी।

इन आवाज़ों से मैं और भी गर्म हो गया और मैंने अदिति को और ज़ोर से चोदना शुरू कर दिया। फ़िर अदिति ने अचानक मुझे धक्का दिया और मुझे अपने नीचे पलट कर मेरे ऊपर चढ़ गई। अदिति ने मेरा लन्ड अपने हाथ में लिया और उसे चूसने लग गई। फ़िर अदिति ने मेरा लन्ड अपनी चूत पर रखा और उस पर बैठ ग़ई। मैंने नीचे से धक्का मारा और अदिति भी उछलने लग गई। फ़िर मैंने अदिति को भी पलट कर अपने नीचे कर दिया और अदिति ने फ़िर से आवाज़ें निकालना शुरू कर दी ‘आआ आह्ह… स्स स्साआअह्ह… म्म म्म्माआआह्ह… ओह येस शम्भू फ़क मी हार्ड… ओह येस् शम्भू फ़क मी हार्ड…’ और तभी अदिति ने मुझे कस कर पकड़ लिया। मैं समझ गया कि वो झड़ गई है, मैंने धक्कों की स्पीड तेज़ कर दी। फ़िर मैं भी अपने चरम पर पहुँच गया और मैंने अपना लन्ड बाहर निकाल कर अपना सारा माल अदिति के बूब्स के ऊपर फ़ेंक दिया।

फ़िर मैंने जाकर कैमरा बद किया और हांफ़ते हुए अदिति के ऊपर ही लेट गया। कुछ देर बाद मैंने अदिति को देखा, पूछ- आज क्या हुआ था? बड़े जोश में थी। अदिति ने कहा- पता नहीं, बट अभी भी करने का मन कर रहा है… तुम्हारे अंदर ताकत बची है? मैंने अदिति से कहा- मेरी एक इच्छा तो तूने बिना बोले ही पूरी कर दी मेरा लन्ड चूस कर, अब दूसरी भी पूरी कर दे। उसने पूछा- कौन सी? मैंने कहा- गान्ड मारने की। पता नहीं क्या हुआ, अदिति एकदम से उठ गई और घोड़ी बन गयी। मेरी खुशी का तो कोई ठिकाना नहीं रहा और मैंने अपना लन्ड सीधे अदिति की गान्ड पर लगा दिया और उसकी गान्ड मारना शुरू कर दिया। और उस दिन मुझे बहुत मजा दिया अदिति ने और ऐसे ही हम हप्ते में एक बार सेक्स किया करते है धन्यवाद दोस्तों।

Leave a Reply