कोमल की बड़े लोगो से सेटिंग करवा के मेने गांड मारी

दोस्तों क्या आप ने कभी की लड़की की गांड की सवारी की है। अगर नहीं की तो मेरी ये कहानी सुनने के बाद आप जरूर अपनी बीवी या गर्लफ्रेंड की गांड जरूर मारना चाहोगे क्यू की जो गांड मारने में मज़ा है वो चुत फाड़ने में नहीं। और सच में दोस्तों गांड मारने  ज्यादा मज़ा आता है क्यों की गांड का वो टाइट पन बहुत मज़ा देता हैइसलिए इस मारने में जो आनंद मिलता है उसका अहसास ही दुर्लभ है। तो ये कहानी मेरी फ्रेंड कोमल की है जो मेरे साथ इंजीनियरिंग की पढाई कर रही है। उसका इतना मस्त बदन था उसमे उसका सबसे अच्छी उसकी गांड दिखती थी और वो हुस्न की मलिका मानी जाती थी जब वो चलती थी तो वो अपनी गांड को हिलती हुई मटकाती हुई चलती थी जिस से इन्सीट्यट के सारे लड़को के लंड का पानी आटोमेटिक नीलक जाता था।कोमल एक गरीब घर की बेटी थी वो पार्ट टाइम के लिए कुछ लोगो के साथ सोया करती थी लेकिन ये बात सिर्फ मुझे मालूम थी

वो किसी भी सूरत में अपना राज़ खुलने नहीं देती भले कोई उसकी गांड मार दे तो भी वह मरवा देती थी।अगर कोई उसे 2000 रुपया दे तो वह अपनी चुत गांड और अपना मुँह तीनो चुदवा देती है खेर दोस्तों इस काम में कोमल का बॉयफ्रेंड उसकी मदद करता था जो पैसे आते थे उससे वो दोनों मज़े करते थे कोमल का बॉयफ्रेंड कोमल के लये ऐसे ग्रहाक ढूंढता था की जो कोमल को चोदने के बाद उसे भूल जाये मतलब उसे बदनाम न करे। और इस काम में होटल वाले भी कोमल की मदद करते थे। सच कहु तो मेरे बाप का भी एक होटल है और वह बड़े बड़े लोग आया जाया करते थे तो इस बार कोमल के बॉयफ्रेंड ने मुझे कहा की तू इसबार मेरे कोमल की सेटिंग करवा ले बड़े लोगो से में तुझे भी कोमल को छोड़ने का मौका दूंगा फ्री में।

सच कहुँ दोस्तों मुझे कोमल की गांड का भूत पहले से चढ़ा हुआ था और मुझे कोमल की गांड चोदना था कोमल की गांड की साइज 36 थी और कोमल अपने सरीर को छुपाने के लिए ढीला सलवार पहना करती थी और जब भी वो कस्टमर के पास जाती थी तो टाइट जींस और टॉप पहन के जाती थी और आखिर मेने कोमल की सेटिंग करवा दी। और एक दिन मुझे कोमल के बॉयफ्रेंड का फ़ोन आया की भाई तेरा इनाम रेडी है कहो तो भेज दू तो मेने कहा भाई शुभ काम में देर मत करो भेज दो उसे मेरे होटल में और कोमल उस दिन एकदम पारी जैसी सज धज के आई थी। कोमल की मस्त चुसिया और उसकी मोटी गांड को देख के तो बूढ़े भी जवानी की दया मांगेगे आखिर कार मेरे रुम में आते ही कोमल ने दरवाजा अंदर से लाक कर दिया और फिर अपनी टाप उतारकर अपने मस्त चूंचों को फिर कोमल ने मेरे हाथ को पकड़ के बोली केसा लग रह है में बहुत दिन से देख रही हु की तुम मुझे कोचिंग में चुने की कोसिस कर रहे थे.

वो दिन आज आगया है फिर वो अपने बूब्स को अपने हटो से पकड़ के मसलने लगी और सेक्सी बाते करने लगी तो मेरा लंड फनफनाने लगा। फिर मेने आने पेंट को खोल दिया और अपने लंड को बहार निकल के फटकारा और कहा आजा साली रंडी जल्दी से लेले अपने मुँह में  और चूस मेरे लैंड को। फिर अपने मेरे पास आई को अपने बड़े बड़े बूब्स के बिच में मेरे लंड को फसाया और रगड़ने लगी फिर उसने मेरे लैंड को बहुत चूसा और बोली केसा लग रहा है मेरी जान तो मेने कहा इससे काम नहीं होने वाला है चल अपनी गांड दिखा। जानू मेरी गांड तो प्रीमियम रेट पर उपलब्ध है लेकिन तुम मेरे फ्रैंण्ड हो इस लिए तुम्हे फ्री में मज़ा मिलेगा वो भी ज़ी भर के फिर उसने अपनी जींस उतारी साली ने जींस के निचे उसने कुछ नहीं पहना था

फिर उसने अपनी गांड को मेरे मुँह के सामने ले और कहा जानू संगो मेरे गांड को किसी खुसबू आरही है मेने कहा खुसबूदार तो है लेकिन आप तू चुदने के लिए तैयार हो जा और फिर उसने अपने दोनों हाथो से अपनी गांड को खोल दिया और कहा लो चोद दो मेरी गांड मेने भी देर करते हुए पीछे से उसके बूब्स को पकड़ के जोर जोर से गांड ठुकाई लगा. साली रैंड की गांड आलरेडी फटी हुई थी तो मेरा लंड आराम से अंदर बाहर हो रहा था।फिर उसे मुझे धीरे धीरे मज़ा आने लगा और फिर मैने उसकी कमर एक हाथ से पकड़ के बड़ी गांड के टाईट छेद में धक्के मारने शुरु किये और वो मस्ताती हुई कमर हिलाते हुए खुद भी साथ देने लगी। गाँड ठुकाई तो सहयोग का ही विषय है। फिर उसने अपनी गांड को थोड़ा मोड़ कर टाइट कर दिया और उसे लगा की मेरा पानी निकल जायेगा।

मैने फिर अपना लंड उसकी बड़ी गांड से बाहर निकाला और उसके मुह में डाल दिया। गांड से निकले बड़े लंड को जो कि खुश्बूदार हो रहा था, कोमल ने बड़े ही चाव से चाटा और फिर अपनी जीभ उसके सुपाड़े पर रगड़ रगड़ कर लंड को फिर से रिलैक्क्स कर दिया। मैं तो सिर्फ उसकी गांड मारने के चक्कर में ही था इसलिए मैने फिर दुबारा से उसके बड़ी गांड में लंड भोक दिया। आह्ह और उफ्ह करती हुई कोमल ने मुझे फिर उत्साहित किया कि मैं उसकी गांड की बखिया उधेड़ दूं। देखते ही देखते मैने उसकी गांड की गहराई को पूरा ही नाप दिया और वो एक दम से मस्त होकर अपनी बड़ी गांड नचा नचा कर के लंड को अंदर लेने लग गयी। इस बार गांड मरौव्वल का संगीत फचाफच और खचाखच जोरों शोरों से सुनाई दे रहा था। जल्द ही उसकी बड़ी गांड मेरे वीर्य से लबालब भर चुकी थी।

Leave a Reply